Wednesday, November 25, 2020
Home Spirtiual Places गंगेश्वर महादेव मंदिर

गंगेश्वर महादेव मंदिर

गंगेश्वर शब्द का अर्थ भगवान शिव से है जो अपनी जटाओं में गंगा को समेटे हुए हैं। भगवान शिव को धरती पर मां गंगा के प्रवाहित करने का स्वामी माना जाता है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है।

गंगेश्वर मंदिर कहां है??

गंगेश्वर महादेव मंदिर भारत के केंद्र शासित प्रदेश दमन एवं दीव में दीव से लगभग 3 से 4 किलोमीटर दूर फादुम नामक एक गांव में स्थित है। फादुम में स्थित यह गंगेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है।

गंगेश्वर मंदिर की विशेषता :

5 shivlingas of gangeshwar mahadev mandir
image source- justdial.com

यह मूल रूप से एक गुफा में स्थित मंदिर है और समुद्र तट में चट्टानों के बीच स्थित है। इस मंदिर में 5 शिवलिंग है और सभी का आकार अलग-अलग है। अरब सागर की लहरें इस शिवलिंग में आती रहती है। सागर की लहरों का इस तरह से शिवलिंग पर आना भक्तों के बीच काफी चर्चा का विषय है, स्वयं सागर की लहरों का शिवलिंग पर जल अर्पित करना लोगों की भक्ति भावना को और भी गहरा करता है।

गंगेश्वर महादेव मंदिर समुद्र तट पर स्थित होने के कारण प्राकृतिक सुंदरता और आध्यात्मिक परिवेश का बहुत ही सुंदर संगम है। गुफा में स्थित गंगेश्वर मंदिर के शिवलिंग के बगल वाली चट्टान पर नाग की आकृति भी बनी हुई है और चट्टानों पर भगवान गणेश, बजरंगबली आदि की मूर्तियां स्थापित है।

यह भी पढ़ें- << दोस्तों के साथ खूबसूरत मनाली ट्रिप >>

पौराणिक कथा:

पौराणिक कथाओं के अनुसार इस मंदिर को पांच पांडवों ने मिलकर बनाया था। जब पांडवों को 12 वर्ष का वनवास और 1 वर्ष का अज्ञातवास मिला था तो उसी समय में पांचो पांडव कुछ समय के लिए इस गांव में आकर रुके थे और अपनी दैनिक पूजा के लिए उन्होंने इस शिवलिंग को बनाया था। पांचों भाई द्वारा बनाया गया यह शिवलिंग अलग-अलग आकार का है।

महाभारत काल में बना यह गंगेश्वर मंदिर लगभग 5000 साल पुराना है। मान्यता है कि गंगेश्वर के दर्शन से सभी तीर्थों की यात्रा का फल प्राप्त होता है और मनुष्य अंतकाल में परम गति को प्राप्त करता है।

arabian sea
arabian sea
image source – tripadvisor.in

गंगेश्वर मंदिर कैसे पहुंचे ??

गंगेश्वर मंदिर पहुंचने के लिए आप रेलवे मार्ग और वायु मार्ग दोनों का प्रयोग कर सकते हैं।

रेलवे मार्ग के लिए सबसे पास का रेलवे स्टेशन देलवाड़ा का है। देलवाड़ा रेलवे स्टेशन से गंगेश्वर महादेव मंदिर की दूरी लगभग 14 किलोमीटर की है।

यह भी पढ़ें- < शिमला की खूबसूरत वादियों के बारे में >

वायु मार्ग के लिए सबसे पास दीव एयरपोर्ट है। दीव एयरपोर्ट से गंगेश्वर महादेव मंदिर की दूरी लगभग 6.5 किलोमीटर की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Current Affairs 2 sept. 2020

HINDI CURRENT AFFAIRS HINDI CURRENT AFFAIRS AND MOST IMPORTANT CONTENT FOR UPCOMING EXAMS लुईस हैमिल्टन...

महिला समानता दिवस : 26 अगस्त

महिला समानता दिवस हर साल 26 अगस्त को मनाया जाता है। महिला समानता की सबसे पहली शुरुआत न्यूजीलैंड ने 1893 में की...

गणेश चतुर्थी 2020

गणेश चतुर्थी कब मनाई जाती है?? भाद्र मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को...

कृष्ण जन्माष्टमी 2020

कृष्ण जन्माष्टमी ( KRISHNA JANMASTMI ) कृष्ण जन्माष्टमी भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के उपलक्ष पर बनाई जाती है...

Recent Comments